पिछले आर्टिकल में आपको मैंने बताया था कि HTML क्या होता है और कैसे काम करता है और आज मैं आपको CSS क्या है और इसका इस्तेमाल कैसे और क्यों किया जाता है इन सभी के बारे में बताने वाला हूँ। what is css in hindi.

अगर आप इंटरनेट का इस्तेमाल करते है और रोजाना नयी नयी Website को विजिट करते है तब आपके मन में एक बात जरूर आती होगी की हर वेबसाइट का डिजाइन अलग अलग होता है और हर वेबसाइट का लेआउट भी अलग अलग होता है जिससे की वह वेबसाइट देखने में काफी आकर्षित लगती हैं। हर वेबसाइट का डिजाइन अलग तरह से किया जाता है जिससे की वह वेबसाइट अलग दिखाई दे और यूजर को भी पसंद आये

जिस तरह हर व्यक्ति की अपनी अपनी नॉलेज होती है और ज्ञान होता है उसी तरह कुक कुछ व्यक्ति Coding सीखते है और CSS Coding का ही एक हिस्सा है। और इसके माध्यम से वेबसाइट को डिजाइन करने का काम होता है। तो अब चलिए जान लेते है आखिर CSS क्या है इसका इस्तेमाल कैसे किया जाता है और आप CSS कैसे सिख सकते है।

CSS क्या है – What is CSS in Hindi

CSS एक Style Sheet Language है जिसे W3C (World Wide Web Consortium) द्वारा विकसित किया गया है। CSS को HTML से बने webpage को design करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। CSS ही web browser को यह बताता है कि HTML elements को web browser से किस तरह दिखाना है इसे बनाने के लिए Note Editor की जरुरत होती है या फिर आप किसी भी Online Css Editor का उपयोग करके भी इसे बना सकते है।

बिना HTML के CSS का उपयोग नहीं किया जा सकता CSS का उपयोग करने के लिए HTML जरुरी है जो कि मैं आपको ऊपर स्पष्ट कर चुका है।

CSS दिखने में कुछ इस तरह का दिखाई देता है जो की आप नीचे इमेज में देख सकते है। यह इमेज केवल आपको समझने के लिए है असलियत में HTML Webpage में CSS का Layout कुछ अलग तरह से ही दीखता है।

css kya hai Example

यदि आपको इस इमेज को देख कर ऐसा लगता है की यह बहुत ही कठिन है सीखना तो आप बिलकुल गलत सोच रहे है क्योंकि CSS language काफी आसान language है जिसे कोई व्यक्ति कुछ दिन की प्रैक्टिस के बाद आसानी से सीख सकता है। लेकिन CSS सिखने से पहले आपको HTML क्या है और कैसे काम करता है उसके बारे में सीखना पड़ेगा। आप चाहे तो बिना HTML सीखे भी CSS सीखना शुरू कर सकते है लेकिन ऐसे में आपको CSS समझने में बोहोत मुश्किल होगी।

ऐसा इसलिए क्योंकि CSS को HTML webpage को डिज़ाइन करने के लिए इस्तेमाल किया है और अगर आपको webpage बनाना ही नही आता तो आपको webpage डिज़ाइन कैसे करे समझ ही नही आएगा।

CSS फुल फॉर्म

CSS का Full Form Cascading Style Sheets होता है इसकी शुरुवात 17 दिसंबर 1996 में की गई थी और इसे  World Wide Web Consortium (W3C) द्वारा डेवलप किया गया था यह World Wide Web के लिए एक अंतर्राष्ट्रीय संस्था है। जिसका मुख्य कार्यालय अमेरिका में है। जिसके डाइरेक्टर Tim Berners-Lee है। और इन्हे ही HTML का अविष्कारक भी माना जाता है।

HTML और CSS में क्या अंतर है

अब तक आपको मैं बोहोत अच्छे से समझा चुका हूँ की HTML और CSS का साथ मे उपयोग क्यों किया जाता है, अगर HTML एक घर है तो CSS उस घर का design और डेकोरेशन है इसे आप नीचे दिए गए इमेज से काफी अच्छे तरीके से समझ सकते है।

Html and Css difference

HTML  – यहाँ HTML के जरिये किसी भी वेबपेज को बनाया जाता है एक html वेब पेज के अंदर किसी भी टेक्स्ट को लिखते है कोई इमेज लगाना होता है तो वह इमेज भी लगाते है और कई सारे कोड की मदद से Normal तरीके से एक वेबपेज को बनाते है यदि नार्मल वेबपेज को आप किसी भी ब्राउज़र में ओपन करके देखेंगे तो वह बहुत simple और बोरिंग सा दिखेगा। एक HTML वेबपेज को अच्छा और सुन्दर दिखाने के लिए हमें CSS का उपयोग करना पड़ता है।

CSS – जैसा की आपको मैंने ऊपर बताया है की HTML वेबपेज को डिज़ाइन करने के लिए CSS का उपयोग किया जाता है। यदि आप कोई भी वेबपेज को बनाते हो तब आपको उसमे CSS की मदद से ब्राउज़र को यह बताना होता है की एक ब्राउज़र में HTML वेबपेज में हैडिंग फोटो और पैराग्राफ किस तरह से दिखाई देगा यह सब कोड के माध्यम से ही किया जाता है।

CSS का उपयोग कैसे किया जाता है

Css का उपयोग करने के लिए आपको एक Note Editor की ज़रूरत होती है जिसमे कोड को एडिट किया जा सके। इसे उपयोग करने के लिए आपको इसके कुछ कोड के बारे में मालूम होना चाहिए और जब भी आप किसी भी html कोड में CSS को अप्लाई करना है तो इस बात का ध्यान रखे की किसी भी Html Code को डिलीट न करे और न ही Edit करे क्युकी ऐसे में आपको कोई भी Error देखने को मिल सकता है

Css तीन तरीको से लिखा जाता है जो की हम एक एक करके जानेंगे जिससे ठीक तरह से समझ आ सके।

  1. Inline Css
  2. Internal Css
  3. External Css     

1.Inline Style Sheet

इस तरह के CSS में Html Tag के भीतर एक ही लाइन में Css को लिखा जाता है। इस तरीके में Css के कोड “Style” Attribute के भीतर लिखा जाता है इसे Inline Css इसलिए कहा जाता है क्यकि इसमें css का फॉर्मेट एक सीधी लाइन में होता है जैसा की आप निचे देख सकते है।

<html>
<head>
<title>
  Your page title
</title></head>
<body>
  <p style="color:green;">
  This is a paragraph.
  </p>
</body></html>

यहाँ हमने Html के Body tag के अंदर Css को रखा हुआ है जिसका अर्थ यह  है की हमने जो भी Title दिया है उसका Color Green होगा क्युकी हमने Css के स्टाइल Attribue में “color:green;” लिखा हुआ है । यह Css Inline Css कहलाता है।

2.Internal Style Sheet

दोस्तों आपको पता होगा की html में tags का उपयोग होता है और <head> tag भी होता है। तो इस तरह के css का उपयोग <head> tag  के अंदर किया जाता है जिससे की यह Internal css कहलाता है। जो की कुछ इस तरह से दिखाई देता है।

<html>
<head>
<title>Internal CSS Example</title>
<style type="text/css">
p{color:blue;}
</style>
</head>
<body>
<p>This is a paragarph.</p>
</body>

3.External Style Sheet

इस तरह के Sytle में css कोड को पहले से ही तैयार करके रख लिया जाता है। यहाँ पर इस तरह की css फाइल  को सीएसएस के फॉर्मेट या एक्सटेंशन के साथ ही सेव करके रखा जाता है जो की .css होता है  जब भी किसी html वेबपेज में CSS अप्लाई करना होता है उस फाइल को html   के <head> section में  <link> tag द्वारा लिंक कर दिया जाता है  जिससे की CSS Load हो सके। आप निचे देख सकते है।

<html>
<head>
<link rel=”stylesheet” type=”text/css” href=”style.css”></head>
<body>
  <p>
  This is a paragraph.
  </p>
</body>

</html>

दोस्तों मैंने अभी आपको ऊपर 3 तरह के सीएसएस स्टाइल के बारे में बताया है यहाँ पर सभी css का उपयोग अलग अलग तरह के Html Webpage बनाने के लिए किया जाता है। सबसे पहले अगर Inline css की बात करि जाए तो इस तरह के css का उपयोग आपको बहुत ही कम करना चाहिए क्युकी इसे बाद में एडिट करने में थोड़ी समस्या उत्पन्न होती है। अब अगर Internal style का उपयोग करके Single Landing Page Website को बना सकते है यह काफी उपयोग में भी लिया जाता है इसमें <head> और </head> section के बीच में Css code को लिखा जाता है।

इसके बाद अगर External Style बात की जाए तो एक या एक से अधिक Webiste बनाने के लिए इस तरह के css का उपयोग किया जाता है इस तरह के css का उपयोग बहुत ही ज्यादा किया जाता है क्युकी बहुत सारी वेबसाइट में एक से अधिक वेबपेज होते है।

CSS के फायदे

दोस्तों यहाँ Css के फायदे की बात करि जाए तो सबसे बड़ा फायदा यह है की यह हमारे HTML Webpages को बहुत ही आकर्षित बना देता है इसके अलावा मेने कुछ और निचे आपको फायदे बताये है जो आप पढ़ सकते है।

1. समय की बचत होती है

Css का उपयोग करके आप बहुत ही कम समय में किसी भी वेबपेज को आसानी से डिजाइन कर सकते है जिससे की आपका समय बचता है मान लीजिए आपको 100 वेबपेज बनाने है तो एक जैसा डिजाइन ही रखना है तब आप एक वेबपेज को बना कर आप एक साथ सभी वेबपेज में अप्लाई कर सकते है जिससे की आपका समय बहुत ही बचता है और आपका पूरा काम Css की मदद से जल्दी हो जाता है

2. डिजाइन करने में आसानी

यहाँ अगर डिजाइन की बात करि जाए तो डिजाइन करने में भी आसानी होती है मान लीजिए आपको एक Website में 5o पेज को बनाना है और सभी पेजेज में एक ही जैसा डिजाइन करना है तब आप सिर्फ केवल एक ही पेज बना कर सभी पेजेज में Css file को लिंक करके सभी वेबपेजेस का डिजाइन एक जैसा कर सकते है जिससे की आपका समय भी बचता है और डिजाइन भी आसानी से हो जाता है।

3. Website की Speed बढ़ जाती है

यहाँ आप अगर कोड की मदद से वेबसाइट को बनाते है तो आपकी Website की स्पीड काफी फ़ास्ट होती है वही आप डिजाइन के लिए Css Style का उपयोग करते है तो आपके Webpages की Size बहुत छोटी होती है जिससे काम से काम स्पीड के इंटरनेट में भी आपका वेबपेज ओपन हो सकता है। तो यह भी Css का एक अच्छा फायदा हैं।

4. Page को Responsive बनाता है

आपने बहुत बार देखा होगा की कोई कोई वेबपेज कम्प्यूटर में सही तरीके से ओपन होता है और मोबाइल में उतने अच्छे तरीके से ओपन नहीं हो पता है इसका समाधान भी Css Style के द्वारा किया जा सकता है जिससे की आपकी साइट पर आने वाले यूजर को आपके सभी वेबपेज को एक्सेस करने में किसी भी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता है।

5. उपयोग करने में फ्री

यहाँ आपको बता दू की Css का उपयोग करने के लिए आपको किसी भी तरह की Paid Service  का उपयोग नहीं करना पड़ता है क्युकी यह एक तरह की Style है तो आप इसे जैसे चाहे वैसे उपयोग कर सकते है और अपने वेबपेज को डिजाइन कर सकते है।

CSS का संक्षिप्त इतिहास

वैसे दोस्तों Html और Css में कुछ ही थोड़ा अंतर देखने  को मिलता है पर यहाँ हम css को Html का छोटा रूप जरूर कह सकते है जो की html के साथ ही मिल कर काम करता है। अगर इनके इतिहास की बात करि जाए तो html  को Tim Berners-Lee द्वारा 1993 में बनाया गया था और उसके कुछ समय बाद ही Css को October 10, 1994 में Håkon Wium Lie swara बनाया गया था जो की Tim Berners-Lee के साथ काम किया करते थे। इसके बाद W3 ने Css का पहला version Css Level 1 बनाया बाद में इसके 3 संस्करण CSS Level 2, CSS Level 2.1 और CSS Level 3 और भी लाये गए और आज हम Css का जो Version उपयोग करते है वह Css level 3 ही है।

CSS कैसे सीखें

दोस्तों यदि आप Css सीखना चाहते है तो आप ऑनलाइन Css सिख सकते है आपको Css सिखने के लिए एक Note Editor, Computer और एक Internet कनेक्शन की आवश्यकता होती है।

आप यूट्यूब के माध्यम से भी Tutorial Video देख कर Css को सिख सकते है इसके अलावा www.w3schools.com की मदद से भी सिख सकते है पर यहाँ अगर आप यूट्यूब से सीखते है तो आपको सिखने में काफी आसानी होगी।

अंतिम शब्द

मुझे उम्मीद है दोस्तों आपको मेरा लेख Css क्या है (What Is Css In Hindi) पसंद आया होगा यदि आपको मेरे इस पोस्ट से थोड़ी भी जानकारी प्राप्त हुई हो तो इसे पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे और इस पोस्ट से सम्बंधित आपका किसी तरह का सुझाव या शिकायत हो तो आप हमें कमेंट के माध्यम से बता सकते है और यह पोस्ट अपने दोस्तों के साथ भी साझा करना न भूले।

आपका स्वागत है Indiakabest.in पर, मेरा नाम है Shehzad Ansari और मैं इस website का founder हूँ। यहा आपको हर रोज Internet और Android से जुड़ी नई-नई जानकारियां मिलती रहेगी. अगर आप भी एक Android user है तो हमारे ब्लॉग को follow जरूर करे। आप Google पर IndiaKaBest search करके हमारे ब्लॉग पर आ सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here